अमरो और सरपंच कर रहे थे गंदी बात पटियाला पुलिस ने पकड़ लिया

Report : Parveen Komal
9876442643

अमरों  और सरपंच का  गंदा काम  जब पुलिस की नजर में चढ़ गया  तो बचना नामुमकिन था । नशा तस्करों के खिलाफ कार्रवाई में पटियाला पुलिस ने हरियाणा के एक रईसजादे और उसकी महबूबा के साथ गिरफ्तार कर लिया। तलाशी के दौरान पुलिस ने आरोपियों की लग्जरी गाड़ियों से काफी मात्रा में अफ़ीम उर्फ काली नागनी बरामद की।
एसएसपी मनदीप सिंह सिद्धू, एसपी (डी) मनजीत सिंह बराड़  और  डी एस पी गुुुरदेव  सिंह धालीवाल ने वीरवार दोपहर को पुलिस लाइन में आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि पंजाब सरकार की नशा मुक्त पंजाब बनाने के लिए चलाई जा रही मुहिम के तहत वीरवार को पटियाला पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। सीआईए स्टाफ समाना पुलिस पार्टी अनाज मंडी बलवेड़ा में मौजूद थी। इसी दौरान सूचना मिली कि जसविंदर सिंह उर्फ सरपंच उर्फ निशान निवासी गांव पलसर थाना भूना जिला फतेहाबाद (हरियाणा) अपनी एक महिला मित्र अमरजीत कौर उर्फ अमरो निवासी मुरादपुरा तहसील समाना के साथ मिलकर पिछले काफी समय से पंजाब और हरियाणा में अफीम बेचने का काम कर रहा है।

सूचना मिली कि यह दोनों अपनी सफेद रंग की पजेरो कार (पीबी10 डीजी7706) में काफी मात्रा में अफीम लेकर चीका से वाया बलवेड़ा होकर पटियाला शहर जा रहे हैं। इस पर पुलिस पार्टी ने अकाल अकादमी बलवेड़ा के पास नाकाबंदी करके कार में आते दोनों आरोपियों को काबू करके कार की डिग्गी में पड़े प्लास्टिक के लिफाफे से तीन किलो अफीम बरामद की। साथ ही अफीम तौलने वाला कंप्यूटर कंडा, प्लास्टिक की थैलियां और सील लगाने वाली मशीन भी बरामद की। आरोपियों के खिलाफ थाना सदर पटियाला में विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। एसएसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान आरोपी जसविंदर सिंह उर्फ सरपंच ने माना कि समाना की मली कालोनी में अमरजीत कौर उर्फ अमरो की कोठी में खड़ी ओडी कार (सीएच 01एयू 0313) में भी अफीम पड़ी है। आरोपी की निशानदेही पर ओडी कार के डैश बोर्ड से 400 ग्राम अफीम बरामद की गई।
सरपंच अफीम की तस्करी के वक्त अपनी माशूका अमरो को 26 तोले सोना पहनाकर और मेकअप से डेंटिंग पेंटिंग करके अपने साथ फ्रंट सीट पर बैठाकर ले जाता था ताकि अमरो के हुस्न को देखकर पुलिस कर्मियों की आंखे चुंधिया जाएं और उनको अफीम की तरफ ध्यान देने की सुध बुध न रहे लेकिन पटियाला की वैरागी पुलिस के आगे इनका ये फार्मूला फेल हो गया तो इन्होंने पुलिस को 26 तोले सोना और मोटी धनराशि देने की पेशकश कर डाली लेकिन एस एस पी मनदीप सिंह सिद्धु की पुलिस मुजरिमों को कोआपरेट नहीं करती इसलिये वही हुआ जो मंज़ूर ए खुदा था और अमरो अपने आशिक के साथ जुर्म की दुनिया के अमरत्व को प्राप्त हुई।

Hit Counter provided by laptop reviews