मायावती की तुलना किन्नरों से करना किन्नर समुदाय की तौहीन-कोमल

किन्नर समुदाय की भलाई के लिए संगठित संस्था किन्नर वेलफेयर बोर्ड रजिस्टर्ड के चेयरमैन श्री प्रवीण कोमल ने मायावती को किन्नर कहे जाने और मायावती की तुलना किन्नरों के साथ किए जाने की सख्त निंदा की है । श्री कोमल ने कहां है कि किन्नर समुदाय एक शांति पसंद भाईचारा हैं और यह हर वर्ग की भलाई के लिए और हर वर्ग की सुख शांति के लिए दुआ करने वाला वर्ग है। किन्नरों का इस तरह की ओछी राजनीति से कोई लेना देना नहीं। किन्नर समुदाय कभी भी वैर विरोध की भावना रखते हुए इस तरह की निम्न दर्जे की शब्दावली का प्रयोग नहीं करता। इसलिए मायावती की तुलना किन्नरों के साथ करना किन्नर समुदाय की तोहीन है। श्री प्रवीण कोमल ने भारत के राजनेताओं को अपील की है कि आपस की लड़ाई में या राजनीति के हथकंडो में किन्नर समुदाय को घसीटने से परहेज किया जाए। किन्नर वेलफेयर बोर्ड की तरफ से इस घटना का कड़ा नोटिस लिया गया है और इस सिलसिले में किन्नर वेलफेयर बोर्ड की एक विशेष मीटिंग भी बुलाई जा रही है जिसमें किन्नर वेलफेयर बोर्ड के कानूनी सलाहकार पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता श्रीमती अनुपम भनोट, श्री बृजेश भनोट तथा श्री सतीश करकरा पर आधारित एक लीगल एड कमेटी का गठन किया जा रहा है ताकि भविष्य में अगर कोई राज नेता आपस की लड़ाई में किन्नर समुदाय का नाम इस्तेमाल करके बेवजह का वाद विवाद खड़ा करता है तो उसके खिलाफ उचित रूप से कानूनी कार्यवाही की जाए। किन्नर वेलफेयर बोर्ड के चेयरमैन श्री प्रवीण कोमल ने ऐसी हरकतें करने वाले राजनेताओं को चेतावनी देते हुए कहा है कि वह अपने उल्टी-सीधी हरकतों से बाज आएं और अपनी नेतागिरी चमकाने के लिए किन्नर समुदाय का नाम इस्तेमाल करना बंद करें।


Hit Counter provided by laptop reviews