मिलिए पंजाब सिवल सरविसिज जुडिशियल में चुने गए आरती शर्मा और गुरप्रीत सिंह से

Arti Sharma
Gurprit Singh

इन्साफ की कसौटी पर धार आजमाने  निकले पंजाब के दो नौजवानों से आपको मिलवाएं . हिंदुस्तान की बाजू ए शमशीर पंजाब, के नंगल तहसील के अधीन गांव दोनाल की आरती शर्मा ने और गांव बैंसपुर के गुरप्रीत सिंह ने जज बनकर अपने माता पिता की उम्मीदों पर खरा उतरके दिखाया है वहीँ अपने  इलाके का नाम भी रौशन किया है।पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट की तरफ से पंजाब सिवल सरविसिज जुडिशियल के घोषित नतीजों में तहसील नंगल के दो पिछड़े गांव बैंसपुर के गुरप्रीत सिंह और दोनाला की आरती शर्मा ने जज बनकरसिद्ध किया है कि “होने को तो आस्मां में भी छेद  हो सकता है एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारो।” 

Report: Abhinav Sharma
Supreme Court News Affairs Reporter

नंगल तहसील के ही दोनाला की रहने वाली आरती शर्मा ने जहां जनरल कैटागिरी में स्थान हासिल किया वही एक छोटे से गांव से निकल कर यह साबित कर दिया कि आजकल की लड़कियां किसी से रत्ती भर भी कम नहीं हैं। आपको बता दें कि  कि आरती शर्मा भी एक साधारण और मद्धयवर्गीय परिवार के साथ सम्बन्धित है। आरती ने इस प्राप्ति के लिए अपने माता पिता के साथ साथ अपने अध्यापकों को इसका क्रेडिट दिया। इस कामयाबी की प्रसन्नता के अवसर पर  उनके पारिवारिक सदस्य जहाँ आनन्दमग्न थे वही पूरे गांव वालों ने  भी  इस प्राप्ति के लिए आरती और उनके परिवार को को बधाईयां दीं.

पंजाब सिविल सरविसिज जुडिशियल के लिए चुने गए गुरप्रीत सिंह का गांव बैंसपुर है जिन्होंने  शिवालिक माडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल से दसवीं और डी.ए.वी. सीनियर सेकेंडरी स्कूल सूरेवाल से बारहवीं की पड़ाई करने के पश्चात लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी जालंधर से वकालत की पड़ाई की। उन्होंने तीन बार इम्तिहान दिया लेकिन  चौथी बार आखिर सफलता ने गुरप्रीत के कदम चूम ही लिए। गुरप्रीत ने कहा कि वह मध्यवर्ग के परिवार के साथ सम्बन्धित हैं और उनका गांव पंजाब और हिमाचल की सरहद पर बसा हुआ है।

इस छोटे से गांव में न-मात्र के करीब ही सुविधाऐं हैं परन्तु वह ख़ुद को भागयशाली समझते हैं कि परमात्मा ने उनको आज बड़े पद पर आसीन किया है। उन्होने बताया कि जब पहली बार इम्तिहान दिया तो उसका प्री भी पास नहीं हुआ था और दूसरी बार मेन पेपर पास नहीं हो सका। परन्तु जब इस बार फिर उन्होने इम्तिहान दिया और सफलता प्राप्त की ही नहीं की बल्कि अपने वर्ग में पहले नंबर पर आकर उसने सबको हैरान कर दिया। गुरप्रीत ने इस कामयाबी का सारा श्रेय अपने माता पिता और अध्यापकों को दिया है। उनका कहना है कि गुरुजनों की कृपा से ही उन्होंने मंजिल सर की है . 

Rana K P Singh Speaker Punjab Vidhan Sabha

नंगल क्षेत्र के लिए उच्च संम्मान :- स्पीकर। क्षेत्र के विधायक और पंजाब विधानसभा के स्पीकर राणा कंवरपाल सिंह ने आरती शर्मा और गुरप्रीत सिंह को बधाई देते हुए कहाकि इन दोनों ने मेहनत के साथ यह साबित कर दिया है कि ऊंचे स्थान तक पहुंचने का बस सख्त मेहनत ही एक मात्र सूत्र है। स्पीकर ने कहा कि बेटी पड़ाओ, बेटी बचाओ जैसे अभियानों को आरती शर्मा ने सार्थकता दे दी है। उन्होने समूह नौजवानों को भी अपील की कि वह आरती और गुरप्रीत की तरह इलाके का मान बने।

 


Hit Counter provided by laptop reviews