300 पत्रकारों पर जानलेवा हमला : पंजाब के पत्रकारों ने की गुजरात पुलिस की कड़ी निंदा

चंडीगढ़ – अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष जिग्नेश भाई कलावाडिया के नेतृत्व में मुख्यमन्त्री से मुलाकात करनें जा रहे 250 सम्पादकों सहित 300 से अधिक पत्रकारों को गुजरात पुलिस द्वारा सचिवालय से बलपूर्वक रोका गया था, रोके जाने का  विरोध करनें पर पुलिस ने बर्बरता दिखाते हुये पत्रकारों को गिरफ्तार कर लिया ।

पत्रकार सुरक्षा क़ानून लागू कराने की मांग के लिये संघर्षरत अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष जिग्नेश भाई कलावाडिया से चर्चा उपरान्त प्राप्त जानकारी अनुसार गुजरात के 250 सम्पादकों सहित 300 से अधिक पत्रकार जब हार्दिक पटेल के अनशन की कवरेज करने जा रहे थे तब गुजरात पुलिस ने उनको बलपूर्वक रोकना चाहा जब  पत्रकार साथियों ने कवरेज करना जारी रखा तो पुलिस ने किया लाठी चार्ज । जिससे कई पत्रकार घायल हुए ।

पुलिस की बर्बरता यहां भी नही थमी और लाठीचार्ज के बाद जब पत्रकार विरोध दर्ज कराते हुये घटना के विरोध में अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष जिगनेश कलावडिया के नेतृत्व में लगभग 300 की संख्या में पत्रकार साथी मुख्यमंत्री से मिलना चाहा तो मुख्यमंत्री गुजरात ने सभी पत्रकारों से मिलने से इंकार करते हुये केवल 10 लोगो से मिलने की बात कही ,  इस बात से नाराज पत्रकार सचिवालय पर ही धरने में बैठ गए स्थिति बिगड़ते देख मुख्यमंत्री गुजरात ने सभी पत्रकारों को गिरफ्तार करनें के आदेश दे दिया।पुलिस ने बर्बरता पूर्वक गिरफ्तार कर थाने में देर रात तक बैठाए रखा । गुजरात पुलिस ने पत्रकारों की आवाज़ को दबाने का भरपूर प्रयास किया , परन्तु यह आवाज़ और बुलंद हो गई है । abpss के पत्रकार सम्पूर्ण भारत में इस घटना के सम्बन्ध में विरोध दर्ज करायेंगे । गुजरात में पत्रकारों के साथ हुईं इस निन्दनीय घटना से सम्पूर्ण देश के पत्रकारों में रोष व्याप्त है । अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति मप्र से श्री खालिद शेख और सुश्री सरोज जोशी ने इस घटना की निंदा की है । इस घटना के विरोध में श्री परवीन कोमल की अध्यक्षता में  प्रेस क्लब पंजाब और प्रेस क्लब पटियाला ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है ।


Hit Counter provided by laptop reviews