पंजाब में कुत्ते सूअर गधे सिद्धू महकमे ने टैक्सयुक्त किये

पंजाब में कुत्ते सूअर गधे सिद्धू के महकमे ने टैक्सयुक्त..

पंजाब में कुत्ते सूअर गधे सिद्धू के महकमे ने टैक्सयुक्त..चण्डीगढ़ : पंजाब सरकार ने राज्य में पालतू जानवर रखने पर टैक्स लगाने का ऐलान किया है. अब राज्य में कुत्ता, बिल्ली ही नहीं ऊंट, भैंस, घोड़ा, हिरन, भेड़ और सूअर रखना आपकी जेब पर भारी पड़ सकता है.

सरकार ने इस सभी जानवरों के लिए अलग-अलग टैक्स स्लैब बनाया है.

गुरु ! खुशखबरी 

बता दें की इस निकाय के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू हैं जिन्होंने इसे सुझाया है।

बताया जा रहा है कि पंजाब सरकार ने यह फैसला इसलिए लिया है कि ताकि लोग पालतू जानवरों के लिए लाइसेंस बनवा सकें।

यह फरमान नोटिफिकेशन निकाय विभाग के द्वारा जारी किया गया हैं,

जिसमें कहा गया है कि लोग अपने पालतू जानवरों के लिए लाइसेंस बनवाए।

वहीं पंजाब सरकार की माने तो इसे जल्द ही पास करके लागू कर दिया जाएगा।

पंजाब में कुत्ते सूअर गधे सिद्धू के महकमे ने टैक्सयुक्त..

सरकार ने कुत्ता, बिल्ली, सूअर, भेड़ और हिरन के लिए 250 रुपये और भैंस, सांड, ऊंट, घोड़ा, गाय और हाथी के लिए 500 रुपये प्रति वर्ष के हिसाब से टैक्स का निर्धारण किया है.

सभी पालतू जानवरों को रजिस्टर्ड कराना अनिवार्य होगा

 पंजाब सरकार द्वारा जारी किए गए नोटिफिकेशन के मुताबिक सभी पालतू जानवरों को रजिस्टर्ड कराना अनिवार्य होगा.
राज्य सरकार द्वारा इन पशुओं से संबंध‍ित यूएलबी व लाइसेंस जारी किए जाएंगे.
जानवरों के मालिक को म्युनिसिपल कॉरपोरेशन से एक टैग भी जारी कराना होगा,
जिसपर जानवर का रजिस्ट्रेशन नंबर और मालिक का नाम लिखा होगा.

पंजाब सरकार ने कहा है कि हरेक पालतू जानवर का ब्रांडिंग कोड होगा।

इसके लिए पहचान नंबर दिए जाएंगे या माइक्रो चिप लगाया जाएगा।

प्रेस क्लब ग्रांट

मालिकों का लाइसेंस कैंसल कर दिया जाएगा।

इन जानवरों पर किसी प्रकार की भौन्कू काटू हिंसा करते पाया गया तो मालिकों का लाइसेंस कैंसल कर दिया जाएगा।

ऐसे में मालिक को डिसक्वालिफाई कर दिया जाएगा  और वह जानवर को पालने का हक भी  खो देगा।

हालाँकि ऐसे पशुपालक पशुओं को अपने का हक दोबारा पा सकते हैं  पर उस व्यक्ति के आचार व्यवहार को पहले देखा जाएगा।

जिसके बाद इसे ठीक पाए जाने पर ही उसे दोबारा जानवर पालने का अधिकार प्रदान किया जाएगा।

उधर खबर यह भी है कि पंजाब सरकार इस समय वित्तीय संकट से जूझ रही है और इसी से उबरने के लिए सरकार ने यह उपाय खोजा है।

इस तरह सरकार की मंशा अब इस तरह के टैक्स लगाकर इन घाटों को पूरे करने की कोशिश है।

बात जो भी हो पंजाब सरकार का यह फैसला पशुओं के पक्ष में एक बहुत अच्छा फैसला है

जिसके द्वारा पशुओं की सेवा भी होगी और सुरक्षा भी।


Hit Counter provided by laptop reviews