संत गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां का मामला-बरी होंगे या आरोप तय होगा 25 अगस्त को

बरी होंगे या आरोप तय होगा 25 अगस्त को

Report : Parveen Komal

चंडीगढ़ : सिरसा के डेरा सच्चा सौदा के  संत गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां पर 25 अगस्त को सी.बी.आई. कोर्ट द्वारा आने वाले फैसले को लेकर प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट हो गया है। दरअसल 17 अगस्त को सी.बी.आई. की विशेष अदालत में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ चल रहे साध्वी यौन शोषण मामले में सुनवाई हुई। जहां स्वास्थ्य का हवाला देकर गुरमीत राम रहीम अदालत में पेश नहीं हुए थे। जिसके बाद उन्हें 25 अगस्त को व्यक्तिगत रुप से पेश होने के आदेश हैं। इससे पहले भी डेराप्रमुख 2 बार कोर्ट के आदेशों की अवहेलना कर चुके हैं। इस मामले में डी.जी.पी बीएस संधू ने कहा कि यदि 25 अगस्त को डेरा प्रमुख कोर्ट में पेश नहीं हुए तो कोर्ट के आदेश की पालना की जाएगी। उन्होंने कहा कि कानून से बड़ा कोई नहीं होता है।

रामपाल प्रकरण से मिली सीख
gurmeet-ram-rahim-vishnu-form-video-viral-on-whatsapp-569a5e378bf77_exlstडी.जी.पी. का कहना है कि सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए राजस्थान, पंजाब, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश की सीमाओं पर नाकेबंदी कर दी गई है। सीमाओं से गुजरने वाले हर वाहन की चेकिंग की जा रही है। अन्य प्रदेशों के अधिकारियों से बातचीत की जा रही है। उन्होंने कहा कि रामपाल प्रकरण से पुलिस को काफी कुछ सीखने को मिला है। वैसा माहौल सिरसा में नहीं पैदा होने दिया जाएगा। सिरसा डेरे जाने से किसी के भी नहीं रोका जा रहा। हर व्यक्ति को चेकिंग के बाद जाने दिया जा रहा है।

हरियाणा के 9 जिले संवेदनशील: DGP
हरियाणा के पुलिस महानिदेशक बी.एस. संधू ने बताया कि सुरक्षा के इंतजाम को देखते हुए पुलिसकर्मियों की छुट्टियां भी रद्द कर दी गई हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना को नहीं होने दिया जाएगा। पंचकूला, सिरसा, अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल, हिसार, फतेहाबाद और जींद संवेदनशील स्थान हैं। यहां पैरा मिलिट्री फोर्स तैनात की जा रही है। बाकी जिलों में पुलिस को अलर्ट किया गया है। नौ जिलों में पैरा मिलिट्री फोर्स के पहुंचते ही फ्लैग मार्च शुरू कर दिया जाएगा।

सिरसा व फतेहाबाद में धारा-144 लागू
सिरसा में धारा-144 लागू कर दी गई है। ऐसे में हथियार, तलवारें, बरछा, भाला, चाकू, लाठी, लाठी, तलवार, गंडासी इत्यादि लेकर चलने, रोडवेज व अन्य सरकारी, गैर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के इरादे से जुलूस के रूप में पांच या पांच से अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। वहीं, हिसार में डीसी ने 24 अगस्त से अगले आदेशों तक धारा-144 लागू करने के निर्देश जारी किए हैं। जबकि फतेहाबाद के डीसी ने जिले में धारा-144 लागू कर दी है, जोकि 31 अगस्त तक प्रभावी रहेगी।

सिरसा में स्वास्थ्य विभाग अलर्ट
सुरक्षा के मद्देनजर सरकारी डॉक्टरों की छुट्टियां भी रद्द कर दी गई हैं। सिविल अस्पताल में उपचाराधीन सामान्य मरीजों को छुट्टी दी जारी रही है। अस्पताल में 100 बेड रिजर्व रखा गया है। आपात स्थिति में घटनास्थल पर कितनी जल्दी पहुंचा जाए और एक साथ कई लोगों का उपचार कैसे किया जाए इसके लिए डाक्टर और कर्मचारी अभ्यास कर रहे हैं। हालात ज्यादा खराब होते हैं तो आईएमए भी सहयोग करेगा। शहर के करीब 30 प्राइवेट अस्पतालों को भी जोड़ने की तैयारी चल रही है।

पंचकूला पहुंची बम निरोधक टीम
CBI कोर्ट के फैसले से पहले ही बम निरोधक टीम पंचकूला पहुंच गई है जो चप्पे-चप्पे की जांच कर रहे हैं। अदालत के ग्राउंड फ्लोर से लेकर ऊपरी मंजिल के हर कमरे की बारीकी से टीम ने जांच की। इसकी अध्यक्षता सीनियर साइंटिफिक ऑफिसर डॉ. प्रमीला राठी ने की। ये चेकिंग पेशी के दिन तक रोजाना होगी। अदालत परिसर की जांच के दौरान एसएसओ डॉ. राठी ने निर्देश दिया कि अदालत परिसर में एक भी पत्थर के टुकड़े नजर नहीं आने चाहिए। अदालत में परिसर में तैनात सिक्योरिटी इंचार्ज से कहा कि अदालत में आने वाले जजों को छोड़कर हर व्यक्ति और वकील की चेकिंग होगी। बिना चेकिंग के कोई भी अदालत में प्रवेश नहीं करेगा। अदालत में आने वालों की तीन जगहों पर चेकिंग होगी।


Hit Counter provided by laptop reviews