पंजाब चुनाब-17 – डेरा सच्चा सौदा का राजनैतिक अटैक

पंजाब चुनाब-17 – डेरा सच्चा सौदा का राजनैतिक अटैक 

cdz507v3

REPORT : Naveen Sharma Mumbai
REPORT : Naveen Sharma Mumbai

डाक्टर संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इंसां

डाक्टर संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इंसां की अगुआई वाले डेरा सच्चा सौदा ने

4 फरवरी को होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में

शिरोमणि अकाली दल-बीजेपी गठबंधन को समर्थन देने का एलान कर दिया है

जिस से पंजाब के चुनावी मुकाबले काफी दिलचस्प हो गए हैं और

कई मृतप्राय उम्मीदवारों में नए प्राणों का संचार हो गया है l

जिन अकाली उम्मीदवारों केचेहरों पर मुर्दनी छाई थी उनके चेहरों पर लाली और ख़ुशी दोबारा लौट आई है l

डेरा सच्चा सौदा द्वारा 2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव में अकाली भाजपा सरकार को समर्थन दिए जाने का स्वागत करते हुए  कहा है

कि डेरा सच्चा सौदा द्वारा उठाया गया ये कदम पंजाब और पंजाबियत की रक्षा के लिए उठाया गया कदम है और

इस से हिंदुस्तान की एकता और अखण्डता को और भी बल मिलेगा

कोमल ने कहा कि पंजाब एक सरहदी राज्य होने के कारण हमेशा पकिस्तान की आई एस आई

और पकिस्तान के आतंकवादियों का निशाना बनता आया है

और अगर कोई कमजोर सरकार या केंद्र से मतभेदों वाली सरकार पंजाब में सत्ता में आती है

तो पंजाब फिर से अस्थिरता और आतंक की चपेट में आ सकता है ।

डेरा सच्चा सौदा ने दूरदर्शिता से काम लेते हुए पंजाब के अमन पसंद लोगों के हित के लिए ये सराहनीय कदम उठाया है

जिसका लाभ पंजाब के वोटरों को उठाना चाहिए। इस मीटिंग में पंजाब अध्यक्ष मनप्रीत हुंदल और अन्य पदाधिकारी भी शामिल थे

डेरा सच्चा सौदा की शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेलफेयर फ़ोर्स के सेवादार और  15 मेम्बरी कमेटी के प्रबन्धक ,

भंगी दास सरबजीत हैपी इन्सान के मुताबिक हजूर महाराज  ने अपने अनुयायियों पर ये छोड़ा था कि वो फैसला लें कि

कौन-सी पार्टी या गठबंधन को समर्थन देना है. इसी के मुताबिक डेरा के अनुयायियों ने

एसएडी-बीजेपी गठबंधन को समर्थन देने का फैसला किया है.


Hit Counter provided by laptop reviews